मूलनायक भगवान 1008 श्री आदिनाथ जी

मूलनायक भगवान 1008 श्री आदिनाथ जी

श्री भरत क्षेत्र मूलनायक प्रथम तीर्थंकर भगवान 1008 श्री आदिनाथ जी की सवा उन्नीस फीट उत्तंग लाल पाषाण से निर्मित भव्य मनोहारी प्रतिमा 31 फीट ऊॅचें विशाल मंदिर भवन के ऊपर पद्मासन मुद्रा में विराजमान हैं।

इनके दर्शन करके मन को अनुपम शांति मिलती हैं।